Top 10 Unsolved Mysteries: ब्रह्मांड के अनसुलझे रहस्य!

Top 10 Unsolved Mysteries: ब्रह्मांड ने अपने अंदर कई रहस्य छुपाए है, जिसे मानव सभ्यता आज तक समझ नहीं पाई है। आज हम ब्रह्माण्ड के कुछ ऐसे ही टॉप 10 सबसे बड़े रहस्यों के बारे में जानेंगे, जिन्हे आज भी कोई सुलझा नहीं पाया हैं। हम सब जानते है कि, अंतरिक्ष हमेशा से हमारी जिज्ञासा का केंद्रबिंदु रहा है। इस विचित्र ब्रह्माण्ड में सौर मंडल, ग्रहों, नक्षत्रों और तारों से हमारा संबंध बहुत ही पुराना है। हमारे इस अनंत अनंत ब्रह्मांड में लाखों रहस्य छिपे हुए हैं।

जैसे-जैसे विज्ञान प्रगति करता गया, इस ब्रह्मांड के रहस्य भी खुलते गए। इस आधुनिक विज्ञान ने हमें ब्रह्मांड को देखने का एक अलग नजरिया दिया है। आज हम भले ही बहुत आगे निकल गए हों, लेकिन बुनियादी सवाल आज भी अधूरे है। जैसे इस ब्रह्मांड की शुरुआत कैसे हुई? यह कैसे चलाता है? ये ब्लैक होल क्या बला है? आख़िर इसके अंदर क्या है?

ऐसे कई सवालों का जवाब विज्ञानं आज तक नहीं ढूंढ पाया हैं। ब्रह्माण्ड के ये रहस्य आज भी हमारी समझ से बहुत दूर हैं। हो सकता है कि आने वाले समय में विज्ञान इन पहेलियों को सुलझाएगा और अंतरिक्ष की व्यापक तस्वीर हमारे सामने पेश करेगा। तो चलिए जानते हैं अंतरिक्ष के टॉप 10 (Top 10 Unsolved Mysteries) सबसे बड़े रहस्य…

Top 10 Unsolved Mysteries – बिग -बैंग थ्योरी

यह बिग-बैंग थ्योरी ब्रह्मांड की शुरुआत के बारे में सबसे लोकप्रिय वैज्ञानिक सिद्धांतों में से एक है। बेल्जियम के खगोलशास्त्री जॉर्ज हेनरी लेमैत्रे ने यह सिद्धांत दिया था। इस सिद्धांत के अनुसार लगभग 14.5 अरब वर्ष पूर्व ब्रह्मांड की समस्त ऊर्जा, भौतिक पदार्थ और अस्तित्व एक ही बिंदु में सिमट कर रह गया था। अचानक जोरदार धमाका हुआ। और समय, स्थान और पदार्थ अस्तित्व में आए। यहीं से ब्रह्मांड की उत्पत्ति शुरू हुई। तब से ब्रह्मांड का लगातार विस्तार हो रहा है। इसके परे कई बड़े वैज्ञानिक मानते हैं कि बिग-बैंग थ्योरी महज एक कल्पना है। उनका कहना है कि किसी भी घटना को घटित होने में समय लगता है। उनके अनुसार, बिग बैंग से पहले कोई समय नहीं था। बिना समय के बिग बैंग कैसे हुआ? बिग-बैंग घटना से कुछ ही क्षण पहले समय का अचानक प्रकट होना कैसे हुआ? बिग-बैंग थ्योरी के पास इन सवालों का कोई ठोस जवाब नहीं है।

दुनिया के महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का मानना ​​था कि ब्रह्मांड अचानक से अनायास ही आ गया था। बिग-बैंग सबसे सटीक सिद्धांत है, जिसे हमने कभी जाना है। लेकिन यह कहाँ तक सच है, इसका अभी हमारे पास कोई प्रमाण नहीं है। इस सिद्धांत के भीतर कई प्रमुख विरोधाभास हैं। इस रूप में ब्रह्मांड की रचना कैसे हुई? यह आज भी रहस्य का विषय बना हुआ है।

CLICK  Death and Life: ये है जिन्दगी और मौत से जुड़ी सच्चाई

Top 10 Unsolved Mysteries -डार्क मैटर थ्योरी

विज्ञानं के मुताबिक, 95 प्रतिशत जगह डार्क मैटर और डार्क एनर्जी से बनी है। शेष 5% भौतिक पदार्थों से है, जिन में ग्रह, नक्षत्र, तारे, वह सब शामिल हैं जो हम देख सकते हैं। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि डार्क मैटर और डार्क एनर्जी ही एकमात्र कड़ी है, जिसने इस पूरे ब्रह्मांड को क्रमबद्ध तरीके से बांधा है। थ्योरी के अनुसार, डार्क मैटर उन पदार्थों से बना होता है जो प्रकाश का निरीक्षण, उत्सर्जन और परावर्तन नहीं करते हैं। इस कारण अभी तक साधनों के बल पर इसे देखना संभव नहीं है।

वहीँ वैज्ञानिक परिकल्पना का कहना है कि डार्क मैटर और डार्क एनर्जी इस ब्रह्मांड का आधार हैं। इस पदार्थ से ही सारा ब्रह्मांड बना है। हमें अभी तक इन पदार्थों की विकसित समझ नहीं है। इसे समझने का हमें अभी तक कोई ठोस आधार नहीं मिला है। लेकिन इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता कि ये पदार्थ मौजूद नहीं हैं। हमें इन पदार्थों के बारे में अधिक जानकारी नहीं है। वैज्ञानिक इसे सिर्फ परिकल्पनाओं की मदद से समझने की कोशिश कर रहे हैं।

Top 10 Unsolved Mysteries – ब्लैक होल थ्योरी

इस थ्योरी के मुताबिक, ब्लैक होल भी ब्रह्मांड में सबसे घनी वस्तुओं में से एक है, उनका गुरुत्वाकर्षण खिंचाव इतना अधिक है कि प्रकाश भी इससे नहीं बच सकता है। विज्ञान की माने तो ब्लैक होल सुपरनोवा द्वारा बनते हैं जो विशालकाय तारों के अंदर होते हैं। आपको बता दे कि इसकी खोज सबसे पहले कार्ल श्वार्जस्चिल्ड और जॉन व्हीलर ने की थी। विज्ञान के विस्तार ने ब्लैक होल के कई रहस्यों को उजागर किया है, लेकिन आज भी इससे जुड़े कई ऐसे रहस्य हैं, जो अभी तक सामने नहीं आए हैं। इनमें से एक ब्लैक होल के अंदर क्या है? इस सवाल का जवाब अभी किसी के पास नहीं है। एक छेद देखना असंभव है। हम यह भी नहीं जानते कि कोई वस्तु ब्लैक होल के केंद्र में कब जाती है। और उस से क्या होता है?

दुनिया में कई वैज्ञानिकों की परिकल्पना कहती है कि ब्लैक होल में जाने के बाद वस्तुएं दूसरे आयाम में चली जाती हैं। यह संसार द्वैत से चलता है। इस संसार की प्रत्येक प्रक्रिया में एक द्वैत है। उदाहरण के लिए – स्त्री का पुरुष, जीवन की मृत्यु आदि। इस रूप में वैज्ञानिकों का कहना है कि हमारे इस ब्रह्मांड में भी संघर्ष होगा। उस ब्रह्मांड में सब कुछ उल्टा होगा। यहाँ वे आधार हैं जिन पर भौतिकी के नियम काम करते हैं। उस ब्रह्मांड में, भौतिकी के वही नियम उल्टे काम करेंगे। ब्लैक होल उस द्वंद्वात्मक ब्रह्मांड में प्रवेश करने का साधन हो सकता है। इसी वजह से व्हाइट होल की धारणा सामने आई है।

Top 10 Unsolved Mysteries – मंगल ग्रह पर जीवन

वैज्ञानिको के अनुसार, एक समय में मंगल भी पृथ्वी के समान था। बड़े समुद्र और पानी की धाराएँ भी थीं। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि लाखों साल पहले हुई गुरुत्वाकर्षण गति के कारण इसका चुंबकीय क्षेत्र कमजोर हो गया था। इसके कारण सतह से सारा पानी वाष्प के रूप में वाष्पित हो सकता है या यह ठंडा हो सकता है और सतह के भीतर ही जम सकता है। कमजोर चुंबकीय क्षेत्र के कारण सूर्य की हानिकारक किरणें सीधे सतह पर पड़ने लगीं। यदि कोई प्रजाति उस समय मंगल पर रहती थी, तो वह उसी समय पानी की कमी और सूर्य के हानिकारक विकिरण के कारण मर जाती। नासा के ऑर्बिटर्स ने मंगल की सतह से भेजी सूचना इससे स्पष्ट है कि मंगल के दोनों ध्रुवों में जल जमा है। यानी लाखों साल पहले मंगल पर पृथ्वी की तरह ही समुद्र और नदियां थीं। इस घटना ने एक नई बहस को जन्म दिया है कि लाखों साल पहले मंगल ग्रह पर पृथ्वी की तरह जीवन था। इस जीवन की तलाश में नासा ने दृढ़ता को मंगल की सतह पर उतारा।

CLICK  Baba Harbhajan Singh Real Story: एक शहीद सैनिक जो आज भी ON ड्यूटी है

Top 10 Unsolved Mysteries – कितना बड़ा है ब्रह्मांड?

विज्ञान ने अब तक अपने ज्ञात ब्रह्मांड में 150 अरब आकाशगंगाओं की खोज की है। मतलब, ब्रह्मांड की जांच करने की यह हमारी सीमा है। जबकि ब्रह्मांड इससे कई गुना बड़ा है, या यूं कहें कि अनंत है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक शोध दल ने अपने शोध में पाया कि ज्ञात ब्रह्मांड में अब तक जितनी आकाशगंगाओं को हमने जाना है। इनकी संख्या 250 गुना या इससे भी ज्यादा हो सकती है। यह संख्या इतनी बड़ी है कि यदि आप इसे पूरी तरह से टाइप करते हैं और ब्राउज़र पर खोजते हैं, तो आपका ब्राउज़र क्रैश हो सकता है। इस अनंत विशाल ब्रह्मांड के बारे में अब तक हम इतना ही जानते हैं। महान वैज्ञानिकों का कहना है कि हमारी जानकारी महज एक मटर के दाने के बराबर है। जबकि अंतरिक्ष इससे बहुत ही बड़ा है।

Top 10 Unsolved Mysteries – कॉस्मोलजी से जुड़ीं धारणाएं

एक धारणा यह है कि इस ब्रह्मांड का एक केंद्र है। लेकिन सच तो यह है कि ब्रह्मांड का कोई केंद्र नहीं है। और दूसरी सबसे गलत धारणा यह है कि ब्रह्मांड कुछ और बनने के लिए फैलता जा रहा है, जबकि सच्चाई यह है कि ब्रह्मांड का विस्तार हो रहा है लेकिन कुछ अलग बनने के लिए नहीं। हमें अक्सर एक गुब्बारे के विस्तार का एक उदाहरण दिया जाता है। ब्रह्मांड का विस्तार वैसे ही हो रहा है जैसे गुब्बारा हवा से भरने पर फैलता है। लेकिन विज्ञान अनुसार, यह तुलना एक हद तक ही सही है। जैसे ही गुब्बारा फुलाता है, यह बाहर के वायु स्थान को घेर लेता है, लेकिन ब्रह्मांड स्वयं फैल जाता है। इसका विस्तार किसी बाहरी क्षेत्र में नहीं है।

Top 10 Unsolved Mysteries – धार्मिक पहलु

धार्मिक धारणा के अनुसार, वेद, पुराण और गीता पढ़ने के बाद हमें पता चला कि ब्रह्मांड में सबसे बड़ी शक्ति कौन सी है। बहुत से लोग यह जानना चाहेंगे। इसके लिए हमने क्रमिक रूप से कुछ खोजा है। उपनिषदों में प्रश्न-उत्तर के माध्यम से ऋषियों ने अपने शिष्यों को इस ब्रह्मांड का रहस्य बताया और फिर अपनी शिक्षाओं में उन्होंने सत्य, अहिंसा, ब्रह्मचर्य आदि की शिक्षा दी। अपनी सभी शिक्षाओं में उन्होंने ब्रह्मचर्य को सबसे महत्वपूर्ण माना। वह ब्रह्मचर्य को जीवन की सबसे महत्वपूर्ण चीज मानते थे। ब्रह्मचर्य से बढ़कर कुछ भी नहीं है। ब्रह्मचर्य शक्ति, स्वास्थ्य और समृद्धि देता है, लेकिन ब्रह्मचर्य से बढ़कर भी कुछ है।

Top 10 Unsolved Mysteries – धरती की उत्पत्ति

पृथ्वी की उत्पत्ति पानी से हुई ऐसा माना जाता है।  क्या ऐसा वास्तव में हुआ था? कहीं जलता हुआ पानी बर्फ में बदल गया तो कहीं भयंकर आग के कारण ब्लैक कार्बन पृथ्वी बन गया। यह कहा जाना चाहिए कि यह ज्वालामुखी बन गया और ठंडा हो गया। अब आप यह भी देख सकते हैं कि पृथ्वी अभी भी भीतर से जल रही है और हजारों किलोमीटर तक बर्फ भी जमी हुई है। पृथ्वी पर केवल 75 प्रतिशत जल है। कोई कैसे सोच सकता है कि पानी भी जलेगा या हवा भी जलेगी? इसलिए हिंदू धर्म में नदियों की पूजा की जाती है। जल के बिना जीवन नहीं होता। जल के देवता वरुण और इंद्र की स्तुति वेदों में मिलेगी। जल को सबसे महत्वपूर्ण तत्व माना गया है। जल उतना ही जाग्रत और बोधगम्य तत्व है जितना मनुष्य समझ सकता है। जो पृथ्वी जीव उत्पन्न करती है उसे निर्जीव कैसे माना जा सकता है और पृथ्वी को उत्पन्न करने वाले जल को केवल एक पदार्थ कैसे माना जा सकता है।

CLICK  snakes drink milk: क्या सच मे नाग दूध पीते है और इच्छाधारी होते है ?

Top 10 Unsolved Mysteries – आकाश तत्व क्या है?

 इस संसार में अनेक दार्शनिक आकाश को एक अनुमान मानते हैं। आकाश से वायु की उत्पत्ति हुई। आकाश एक अनुमान है। दिखाई दे रहा है लेकिन पकड़ा नहीं गया है। ऊपर से पृथ्वी का एक धागा, जहाँ तक ऊपर देखा जा सकता है, उसे आकाश माना जाता है।

Unsolved Universe – अंतरिक्ष क्या है?

एक अन्य थ्योरी के अनुसार, अंतरिक्ष अग्नि, वायु और आकाश से बड़ा है। हम जो भी शब्द बोलते हैं, वे इसी स्थान पर गति करते हैं। आकाश में वायु वास्तविक है लेकिन वायु अंतरिक्ष में सूक्ष्म रूप है। अंतरिक्ष सभी का आधार है। अंतरिक्ष के बल पर ही सभी ग्रह और नक्षत्र स्थिर और गतिमान हैं। स्पेस को खाली जगह यानी स्पेस माना जाता है। खाली जगह को हॉलिडे कहा जाता है। यह एक छुट्टी थी जब आकाश का जन्म हुआ था, यानी छुट्टी से आकाश बनाया गया था। अवकाश का अर्थ है अनंत अंधकार। अनंत स्थान। अँधेरे का उल्टा प्रकाश है, लेकिन यहाँ जिस अँधेरे की बात की जा रही है, उसे समझना थोड़ा मुश्किल है। यह अद्वैत सिद्धांत है।

अंतरिक्ष को सबसे बड़ा माना जाता है। ऊपर देखो और ऊपर से कुछ मांगो। क्या नीचे की मूर्ति या मंदिर में पूजा करने वाले जानते हैं कि वैदिक ऋषि ऊपर वाले की पूजा करते थे। ध्यान लगाकर वह अपने भीतर के स्थान का पता लगाता था। सब कुछ अंतरिक्ष से प्राप्त होता है और अपनी बुद्धि के अनुसार प्राप्त होता है। बुद्धि का संबंध अंतरिक्ष से है। अंतरिक्ष हमारी बुद्धि को बढ़ाने वाला माना जाता है। यह हमारे भीतर के जीवन को जीवंत करता है। इस तरह हवा को अपनी गति मिलती है। इसमें अग्नि भी विद्यमान है।

Top 10 Universal Mysteries – ब्रह्मा एक अदृश्य शक्ति

हमारे हिंदू धर्म की लगभग सभी विचारधाराओं का मानना ​​है कि ईश्वर नामक एक सर्वोच्च शक्ति है। वेदों, उपनिषदों, पुराणों और गीता में उसी एक ईश्वर को ‘ब्रह्म’ कहा गया है। ब्रह्म शब्द की उत्पत्ति बृह धातु से हुई है जिसका अर्थ है बढ़ना, फैलाना, व्यास या विस्तार करना। ब्रह्म सर्वोच्च तत्व है। वह जगत् का कारण है। ब्रह्म वह तत्व है जिससे समस्त ब्रह्मांड का जन्म होता है, जिसमें वह अंत में विलीन हो जाता है और जिसमें वह रहता है।

लेटेस्ट News Updates के लिए फ्रीकी फंटूश का FACEBOOK पेज फॉलो करें !

यह भी पढ़ें…

Amazing Facts Quiz: दुनिया की कितने प्रतिशत जनसँख्या Kiss करती है?

Nightmare Interpretation: अनहोनी का संकेत देती हैं सपने में दिखने वाली ये 5 चीजें

Related Posts

Britney Spears Hot Dancing Video!