Earthquake in Delhi: 15 दिनों में दूसरी बार भूकंप

Earthquake in Delhi: 15 दिनों में दूसरी बार भूकंप

Earthquake in Delhi: भूकंप ने एक बार फिर राजधानी दिल्ली की जमीन को हिला दिया है। पश्चिमी दिल्ली के इलाके में गुरुवार सुबह भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, पश्चिमी दिल्ली के क्षेत्र में सुबह 9:17 बजे भूकंप का झटका महसूस किया गया। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 2.8 मापी गई। भूकंप का मुख्य केंद्र जमीन से 15 किलोमीटर नीचे था। भूकंप से अब तक किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है।
 

Earthquake in Delhi

इससे पहले 13 जनवरी को नोएडा में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। 13 जनवरी को आए भूकंप की तीव्रता 2.9 मापी गई थी। बुधवार को शाम 7:03 बजे झटके महसूस किए गए। 25 दिसंबर को दिल्ली और एनसीआर के कुछ इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार, रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 2.3 थी।

पिछले साल दिल्ली में लगभग 50 भूकंप आए थे

एनसीएस वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में या 200 किलोमीटर के दायरे में कुल 51 छोटे से मध्यम तीव्रता के भूकंप आए। पिछले महीने, क्रिसमस की सुबह 2.3 तीव्रता का भूकंप आया था। इससे पहले 17 दिसंबर को भी दिल्ली-एनसीआर के लोगों ने झटके महसूस किए थे। तब स्केल स्केल 4.2 दिखा रहा था।

दरअसल, इन दिनों उत्तराखंड में भूकंप के मामले बढ़ गए हैं। 10 नवंबर को एक रिपोर्ट आई, जिसमें कहा गया कि उत्तराखंड में बड़े भूकंप का खतरा था। इस खतरे को देखते हुए वैज्ञानिकों ने चेतावनी जारी की थी। वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी के वैज्ञानिकों के अनुसार, उत्तराखंड के धारचूला को चीन सीमा पर लिपुलेख के साथ जोड़ने वाले नए कैलाश मानसरोवर मार्ग से लगभग 45 किमी दूर पृथ्वी के निचले हिस्से में भारी गतिविधि है।

वैज्ञानिकों ने धारचूला क्षेत्र और कुमाऊं हिमालयी क्षेत्र के आसपास के क्षेत्रों में बड़ी मात्रा में सूक्ष्म और मध्यम तीव्रता के भूकंपों का खुलासा किया था। इसके साथ ही क्षेत्र में भूगर्भीय तनाव और भूगर्भीय संरचना की भी खोज की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.