Funny Buffalo Poetry: भैंस के दूध से एड्स ठीक हो जाता है क्यूँ?

Funny Buffalo Poetry: भैंस के दूध से एड्स ठीक हो जाता है क्यूँ?
 

                                                Funny Buffalo Poetry in Hindi                               

                                                                                       डोक्टर दांतों में कोलगेट की कमी बताता है,

READ  Deep Love Poem: काश, की मेरे सिने में भी दिल होता

                              फिर भी खाबों में जुलाबों के निशाँ है क्यूँ?

                       पडोसी को परदेसी की पत्नी पराई लगती है,

                      फिर भी बारिश भिकारी पे मेहरबाँ है क्यूँ?

 

                             तुफानो में चुडेल जलती जुल्फें सुखाती है,

                             फिर भी प्रधानमंत्री की बेटी जवाँ है क्यूँ?

READ  Mother's womb Poetry: अच्छा लगता था माँ की कोख में

                                    पश्चिम में पैरों का पसीना नाक से बहता है,

                                    फिर भी सुहागरात से परछाई इतनी हैराँ है क्यूँ?

funny poetry in hindi

                              सांप के सुन्दर ससुर को सौतेली माँ सताती है,

                             फिर भी समंदर की दाड़ी में टुटा तिनका है क्यूँ?

                   चुल्लू भर पानी,सारे सागर पे भारी पड़ता है,

                  फिर भी शबनम की बूंदों से पतंगा नहाता है क्यूँ?

          यमराज मुर्दे की मौत पे अपनी नसबंदी करवाता है,

         फिर भी चूहा थूंक से ही लिफ़ाफ़े पे टिकिट चिपकता है क्यूँ?   

READ  Crime Poetry in Hindi: दर्द का बाज़ार है,ज़ख्मो का व्यापार है

 

झींगुर के साथ लंगूर अपनी औकात दिखाता है,

                       फिर भी शतरंज की शय से फटा प्यादे का गिरेबाँ है क्यूँ?

            कोका कोला से मछलियों को खट्टे डकार आते है,

            फिर भी भैंस के दूध से एड्स ठीक हो जाता है क्यूँ?

 

Read more interesting stuff…

Painful Poetry: जाने क्यूँ ये दर्द,मीठा-मीठा-सा लगता है

Funny Frog Poetry: दादुर का दर्द

Leave a Reply

Your email address will not be published.