Makar Sankranti 2021: 37 वर्ष बाद बन रहा महायोग

Makar Sankranti 2021

Makar Sankranti 2021: आज देश में मकर संक्रांति का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. यह त्यौहार हर वर्ष देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है. इस बार ग्रहों के राजा सूर्यदेव 14 जनवरी को दोपहर 08 बजकर 30 मिनट पर अपने पुत्र शनि के मकर राशि में प्रवेश करेंगे. ऐसी मान्यता है कि मकर संक्रांति पर तिल, कंबल, घी आदि का दान करने से भगवान सूर्यदेव प्रसन्न होकर आपको धनवान बनाते हैं.

सबसे रोचक तत्थ्य यह भी है कि पतंग उड़ाते समय व्यक्ति का शरीर सीधे सूर्यदेव की किरणों के संपर्क में आता है, जिससे उसे सर्दी से जुड़ी कई शारीरिक समस्याओं से निजात मिलती है. इसके साथ ही विटामिन डी भी पर्याप्त मात्रा में मिलता है. विटामिन डी शरीर के लिए बेहद आवश्यक है, जो हड्डियों को मजबूत करता है.

मकर संक्रांति ( Makar Sankranti 2021 ) को लेकर मान्यता है कि पुण्य काल में पूजा और दान करने से पूर्ण लाभ प्राप्त होता है. विशेषज्ञों के अनुसार आज भगवान सूर्य सुबह 8 बजकर 20 मिनट पर धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे. पंचांग के अनुसार मकर संक्रांति का पुण्यकाल सूर्यास्त तक बना रहेगा.

हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है कि सूर्य के मकर राशि में जाते ही शुभ समय की शुरुआत हो जाती है. इसलिए लोग शुभता की शुरुआत का जश्न पतंग उड़ाकर मनाते हैं. मकर संक्रांति ( Makar Sankranti 2021 ) के दिन आसमान में रंग बिरंगी पतंगे लहराती हुई नजर आती हैं. देश में कई जगहों पर पतंग उड़ाने की प्रतियोगताएं भी की जाती है.

 Makar Sankranti 2021 पर बन रहा पंचग्रही योग

दान-पुण्य और स्नान का पर्व मकर संक्रांति ( Makar Sankranti 2021 ) है. इस बार मकर संक्राति पर पंचग्रही योग बन रहा है. ज्योतिषियों के अनुसार यह महायोग 37 वर्ष बाद बन रहा है. श्रद्धालुगण 37 साल बाद इस योग में पुण्य की डुबकी लगाएंगे. आज के दिन श्रद्धालु घाट किनारे स्नान कर पूजा-अर्चना, अंजलि से ही सूर्य को अर्घ्य देंगे. इसके बाद गंगापुत्र घाटियों के यहां तिलक-चंदन लगवाएंगे और यथाशक्ति दान-दक्षिणा देंगे. वहीं, खिचड़ी के साथ ही पूछ पकड़कर गोदान भी करेंगे. मकर राशि में प्रवेश करने के साथ ही सूर्य देव उत्तरायण हो जाएंगे. आज भगवान सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश कर गये है. आज पुण्य काल सुबह 8 बजकर 30 मिनट से शाम 5 बजकर 46 मिनट तक रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.