krishna janmashtami: जो गोपियों संग रास रचाए, वो नटखट कान्हा कहलाए

krishna janmashtami: जो गोपियों संग रास रचाए, वो नटखट कान्हा कहलाए
Krishna Janmashtami: श्रीकृष्ण ने अपना अवतार भाद्रपद माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मध्यरात्रि को अत्याचारी कंस का विनाश करने के लिए मथुरा में जन्म लिया। इसलिये भगवान स्वयं इस दिन पृथ्वी पर अवतरित हुए थे अत: इस दिन को कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में मनाते हैं। … इस दिन मंदिरों में झांकियां सजाई जाती है और भगवान कृष्ण को झूला झुलाया जाता है।
 
गोकुल मे जो करे निवास,
गोपियों संग जो रचाए रास,
देवकी यशोदा है जिनकी मैया,
ऐसे है हमारे प्यारे कृष्ण कन्हैया |

मामा कंस को निपटाने वाले,
वृंदावन मे धेनु चराने वाले,
कान्हा हमारे नटखट निराले |
मधुर-मधुर मुरली बजाए,
गोपियों संग जीवों को रिझाए,
अष्टमी को ऐसे अवतरित हुए,
देवकी की आठवीं संतान कहलाए,
सखा सुदामा के मन अति भाए, 
शेषनाग पर नृत्य किया ऐसे,
ग्वालों का मन मोह लिया ऐसे,
मुख मे ब्रह्मांड समाए जैसे,
नन्द लाला ने करतब दिखाए कैसे-कैसे,
देवकी यशोदा है जिनकी मैया,
ऐसे है हमारे प्यारे कृष्ण कन्हैया |

Happy #krishnajanmashtami
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.