Romantic Shayari: कातिल जवानी और भड़कते अरमान

Romantic Shayari: कातिल जवानी और भड़कते अरमान
 

Romantic Shayari: पढ़िए इश्क़ मोहब्बत से लबरेज़ शेर-ओ-शायरी आपके अपने न्यूज़ पोर्टल फ्रीकी फंटूश पर. आपको यह पोर्टल कैसा लगता है, कमेंट करके जरूर बताएं Read Hindi poems, Best Poetry in Hindi. Read latest Romantic Shayari in Hindi.

Romantic Shayari
 
कश्मकश के इस दौर में,
जिंदगी की ख्वाइश कर ली |
तपते इस रेत के सेहरा में,
हमने इक छांव की गुजारिश कर ली |
तुम्हारे पहलू में आकर हमने,
फिर से,तुम्हे पाने की साज़िश कर ली |
इश्क के ज़र्रे जब से हमें लगे आजमाने,
हमने भी दिल्लगी की ख्वाइश कर ली |
तोड़ने के लिए गुलों का गुमान-ऐ-गुरुर,
शुलों से लहुलुहान होने की फरमाइश कर ली |
दीवानगी का सुरूर कुछ ऐसा छाया हम पर,
कि तमाम ज़िन्दगी राँझा-मजनू-सी लावारिस कर ली |
 

Read more interesting stuff…

Environment Day-ऐसा होगा मेरा कल

Hindi Poem: हाय तेरे होठों की लाली

READ  Wedding dance: घूँघट में कमसिन बाला का नाच

Leave a Reply

Your email address will not be published.