Tag: freaky funtoosh poems

Sun Rise Poetry freaky funtoosh Hindi

Sun Rise Poetry: सिसकती साँसों से पूछो,मेरा क्या है?

Sun Rise Poetry in Hindi सिसकती साँसों से पूछो, वक्त का पहरा क्या है ? रजनी लपेटे सफेदी में, शशि में इतना, गहरा क्या है?   है भान नभ के, भानु प्रताप को, लबों पे लालिमा लिए, सवेरा क्या है? […]

Continue Reading
Old Age Romantic Poetry freaky funtoosh

Old Age Romantic Poetry: महज चेचिस पर ही झुर्रियों ने ली…

Old Age Romantic Poetry in Hindi महज चेचिस पर ही झुर्रियों ने ली अंगड़ाई है महज हाड़-मांस में ही कल-पुर्जों की हुई घिसाई है बाखुदा मोहब्बत तो आज भी कतरे-कतरे में उफान पर है इस नामुराद जमाने ने हम पे […]

Continue Reading
Romantic Rainfall Poetry freaky funtoosh Hindi

Romantic Rainfall Poetry: वो यूँही नही भीगने लगी बरसातों में

वो यूहीं नहीं भीगने लगी बरसातों में, शायद बारिशों ने उसके बदन को यूँ छुआ होगा, एहसास-ऐ-इश्क भी कोई मंजर है यारों, उसने कुछ तो सोचा होगा, उसने कुछ तो सोचा होगा ! Romantic Rainfall Poetry on Woman वो यूहीं […]

Continue Reading