Tag: freaky funtoosh poetry

Life & Death Poetry freaky funtoosh

Life & Death Poetry: मै तो पैदा ही मरने के लिए हुआ हूँ

Life & Death Poetry >>>मौत<<<< मंदिर भी गया, मस्जिद भी गया, पूजा भी की, नमाज भी पड़ी, चर्च भी गया, गुरुद्वारा भी गया, प्रार्थना भी की, गुरुवाणी भी सुनी, चारों धाम भी गया, हज-हवन भी किया, गीता भी गाई, कुरान […]

Continue Reading
Ramadan Eid poem freaky funtoosh

Ramadan Eid poem: आपको मुबारक हो माहे-रमजान

Ramadan Eid poem in hindi मेरी अजीज़ अम्मी, मेरे अजीज़ अब्बूजान   मेरी प्यारी आपा, मेरे प्यारे भाईजान तुम सब को मुबारक हो माहे-रमजान… तुम सब को मुबारक हो माहे-रमजान…| निगाहों को था जिसका बेसब्री से इंतज़ार माहे-रमजान के लिए […]

Continue Reading
love poem in hindi freaky funtoosh

Hindi Poem: हाय तेरे होठों की लाली

Hindi Poem on Lips And Lipsticks तीर नयन के मारे थे, हम पर कितने किये इशारे थे, कितने तुम्हारे चहिते, कितने तुम्हारे प्यारे थे, उम्र थी वह बाली, हाय ! तेरे होठों की लाली…   मन के आँगन में, सपनो […]

Continue Reading
Son & Daughter Day freaky funtoosh

Son & Daughter Day Poem-माँ की खोज में

Son & Daughter Day Poem in Hindi पूरब–पश्चिम,उत्तर–दक्षिण, दर–दर दिशा नापता हूँ रोज मै, बस माँ की खोज में |           पर्वत–पहाड़,           झील–समंदर,           दर–दर भटकता हूँ रोज मै,         […]

Continue Reading
Love Poetry in Hindi freaky funtoosh

Love Poetry in Hindi: मै उसकी अदाओं का आशिक

Love Poetry in Hindi तितलियों पर सवार हो,उड़ती हुई आएगी वो, गुलशनो से गुलों का अर्क लबों पे समेट लाएगी वो,   तड़पायेगी,तरसाएगी,और थोड़ा गुरुर में गरमाएगी वो, चुपके से विरानो में, हल्के से कानो में शरमाएगी वो,   बहारों […]

Continue Reading
Painful Poetry in Hindi Freaky Funtoosh

Painful Poetry: जाने क्यूँ ये दर्द,मीठा-मीठा-सा लगता है

Painful Poetry in Hindi जाने क्यूँ ये दर्द, मीठा-मीठा -सा लगता है हर ज़ख्म पर कोई, मिश्री घोल रहा हो जैसे अपने ही आंसुओं पर, दरिया बन गई है ये आँखें हर नज़र में कोई शख्स,शबनम टटोल रहा हो जैसे […]

Continue Reading