Love Affair Poetry In Hindi: सिसकती साँसों से पूछो

Love Affair Poetry In Hindi – सिसकती साँसों से पूछो,मेरा क्या है?   सिसकती साँसों से पूछो, वक्त का पहरा क्या है ? रजनी लपेटे सफेदी में, शशि में इतना,…

सिसकती साँसों से पूछो,मेरा क्या है?

सिसकती साँसों सेपूछो, वक्त का पहराक्या है ? रजनी लपेटे सफेदीमें, शशि में इतना, गहरा क्या है? है भान नभके, भानु प्रताप को, लबों पे लालिमालिए, सवेरा क्या है? क्यूँ…