हाय : तेरे होठों की लाली

तीर नयन के मारे थे, हम पर कितने किये इशारे थे, कितने तुम्हारे चहिते, कितने तुम्हारे प्यारे थे, उम्र थी वह बाली, हाय ! तेरे होठों की लाली… मन के…

कातिल जवानी और भड़कते अरमान

Click Me For Wow Video कश्मकश के इस दौर में, जिंदगी की ख्वाइश कर ली | तपते इस रेत के सेहरा में, हमने इक छांव की गुजारिश कर ली |…