Tag: infant child poetry

Mother's day womb Poetry

Best Mother’s womb Poetry: अच्छा लगता था माँ की कोख में

Mother’s womb Poetry आँखे खुलते मैंने ये क्या देखा— कोई डूबा हुआ है शौक में, कोई रो रहा है रोग में, कोई भोंक रहा है भोग में, कोई तड़प रहा है वियोग में, क्यूँ आ गया मै इस भूलोक में […]

Continue Reading