JNV school life   दौर-ऐ-जहाँ की यादें बेशुमार,                    ख़्याल-ऐ-शान में है,                       गुज़रा हुआ एक-एक लम्हा,                       गुरुकुल का ध्यान में है |                           उस ज़मीं के ज़र्रे-ज़र्रे को,                      कैसे इतिहास मुकरर कर दूँ ,                   जिसका मेरी रूह में वात्सल्य वादन,                 जो का त्यों वर्तमान में है […]




Chief Editor

Arun Pancholi

Quick Links

Why It’s over for Kim and Pete?
Why It’s over for Kim and Pete?