Hindi Poem on Lips And Lipsticks तीर नयन के मारे थे, हम पर कितने किये इशारे थे, कितने तुम्हारे चहिते, कितने तुम्हारे प्यारे थे, उम्र थी वह बाली, हाय ! तेरे होठों की लाली…   मन के आँगन में, सपनो के दामन में, खिले-खिले यौवन में, लगती थी शराब की […]




Chief Editor

Arun Pancholi

Quick Links

Why It’s over for Kim and Pete?
Why It’s over for Kim and Pete?