दास्ताने-दिनकर : युगों-युगों से सिने में आग लिए

ClicK Me FoR WoW VideO… युगों–युगों से सिने में आग लिए, मैं पल–पल जलता–पिघलता हूँ, किसे सुनाऊं“दास्ताने–दिनकर“, कैसे सांझ–सवेरे ढलता निकलता हूँ | चन्दा–चकोरी की, प्रेम कहानी जग जाने, टूटते…