Google Search Poetry: मेरी जान-सर्च इंजन

Google Search Poetry in Hindi यु ट्यूब में नहाकर आई हो, या देसी ठर्रा पीकर आई हो, गूगल गम खाकर आई हो, या कोलावेरी डी गाकर आई हो |                               याहू का सिर्फ यम्मी यकिन हो,                             या कामसूत्र की कमसिन हो,                           रेडिफ का रंगीन सीन हो,                         या दिल्ली मेट्रो की टाइमली ट्रेन हो |       जी मेल का जोशीला जी हो,    या जी-वन का जवाँ जी हो,   हसीन हॉट-हॉट फीमेल हो, या जुर्म की तिहाड़ जेल हो |              अकबर का आस्क…

Read More