Life & Death Poetry: मै तो पैदा ही मरने के लिए हुआ हूँ

Life & Death Poetry >>>मौत<<<< मंदिर भी गया, मस्जिद भी गया, पूजा भी की, नमाज भी पड़ी, चर्च भी गया,

Read more